गांड चोद कर दी माफ़ी


Click to Download this video!

kamukta, antarvasna मैं बैंक में जॉब करता हूं मुझे बैंक में जॉब करते हुए 25 वर्ष हो चुके हैं, इन 25 वर्षों में मैंने अपनी दोनों लड़कियों की शादी भी करवा दी अब मैं और मेरी पत्नी ही घर पर रह गए हैं, मेरी दोनों लड़कियों की शादी मैंने जयपुर में ही करवाई क्योंकि मेरी जॉब भी जयपुर में ही है लेकिन मेरी दोनों बेटियां अब विदेश में ही रहने लगी हैं। मेरी पत्नी और मैं जब भी घर में साथ होते तो हम दोनों अपने पुराने दिन याद करते और सोचते कि हम दोनों कैसे अपने बच्चों की देखभाल किया करते थे लेकिन अब हम दोनों ही एक दूसरे का सहारा है। मेरे घर में तो अब मेरा कोई भी नहीं है क्योंकि मैं घर में इकलौता हूँ इसलिए मेरा मेरे गांव से कोई संपर्क भी नहीं रह गया है, मेरे माता-पिता का देहांत भी कुछ वर्ष पूर्व ही हो चुका है। मेरी पत्नी मुझे कहने लगी कि मैं कुछ दिनों के लिए अपने गांव हो आती हूं, मैंने अपनी पत्नी से कहा कि हां तुम अपने गांव चले जाओ, वह कहने लगी कि मुझे भी काफी वर्ष हो चुके हैं अपने गांव गए हुए।

मैंने भी सोचा चलो कुछ दिनों के लिए मेरी पत्नी सुधा अपने गांव चली जाएगी तो उसे भी अच्छा लगेगा इसलिए वह कुछ दिनों के लिए अपने गांव चली गई, मैं ही उसे छोड़ने के लिए गया था जब मैं वापस लौटा तो मेरे सामने सबसे बड़ी समस्या खाना बनाने की थी इसलिए मैं एक रेस्टोरेंट में खाना खाने के लिए जाने लगा मैं रोज ही उस रेस्टोरेंट में जाने लगा तो वह लोग भी मुझे पहचानने लगे। एक दिन रेस्टोरेंट के मालिक ने मुझसे पूछा कि भाई साहब आप क्या काम करते हैं तो मैंने उन्हें बताया कि मैं बैंक में नौकरी करता हूं, वह कहने लगे आपका गांव कहां है? मैंने जब उन्हें अपना गांव बताया तो वह कहने लगे कि आपके गांव के ही दो लड़के मेरे पास काम करते हैं, मैंने उन्हें कहा कि तो फिर आप उन्हें मुझसे मिलवाइए। जब उन्होंने मुझे उन लड़कों से मिलवाया तो वह दोनों मेरे गांव के ही निकले एक का नाम कपिल है और दूसरे का नाम सोनू, मैंने उन दोनों से कहा कि कभी तुम मेरे घर पर आजा ना, वह कहने लगे कि सर आपको जब भी जरूरत हो तो आप फोन कर के ही खाना मंगवा दिया कीजिए हम लोग आपके लिए खाना भिजवा दिया करेंगे। अब होटल के मालिक भी मुझे अच्छे से जानने लगे थे इसलिए मैं कई बार घर पर ही फोन कर के ऑर्डर मंगा दिया करता, एकदिन कपिल और सोनू की छुट्टी थी तो वह दोनों मुझसे मिलने के लिए आ गए, वह जब मेरे घर पर आए तो वह दोनों कहने लगे कि क्या आप घर पर अकेले ही रहते हैं।

मैंने उन्हें कहा हां मैं अकेला ही रहता हूं मेरी पत्नी कुछ दिनों के लिए अपने मायके गई हुई है और वह कुछ समय बाद ही लौटेगी वह लोग कहने लगे कि सर लेकिन आपको खाने की बहुत तकलीफ होती होगी, मैंने उसे कहा सबसे बड़ी समस्या मेरे साथ खाना बनाने की है क्योंकि मुझे खाना बनाना नहीं आता। वह लोग कहने लगे कि आज हम लोग आपको बहुत बढ़िया सा खाना बनाकर खिलाते हैं और उस वक्त वैसे भी खाने का समय हो चुका था इसलिए मैंने उन दोनों से कहा कि चलो तुम मेरे लिए खाना बना ही दो, दोनों ने मेरे लिए खाना बनाया जब मैंने खाना खाया तो मैं खाना खाकर बहुत ही ज्यादा खुश हो गया, मैंने उन्हें कहा तुम दोनों तो बहुत ही स्वादिष्ट खाना बनाते हो। वह दोनों मेरे साथ बहुत ही अच्छे से घुल मिल गए थे मैंने उस रात अपनी पत्नी को फोन कर के उन दोनों के बारे में बताया तो मेरी पत्नी कहने लगी चलो तुम्हें भी अब साथ मिल गया है, मैंने अपनी पत्नी से कहा हां नहीं तो मैं अकेला हो गया था, वह दोनों मेरे लिए समय पर खाना भिजवा दिया करते। मैंने जब अपनी पत्नी से पूछा कि तुम कब वापस आ रही हो तो वह कहने लगी कि मैं कुछ दिनों बाद ही वापस आ जाऊंगी। कपिल और सोनू की जब भी छोटी होती तो वह मेरे पास आ जाया करते मेरा भी उन दोनों के साथ मन लगा रहता क्योंकि मेरे साथ भी और कोई था नहीं जिससे मैं बात करता, मैंने एक दिन कपिल से पूछा कि क्या तुम ने शादी कर ली है? कपिल कहने लगा हां मेरी तो शादी हो चुकी है और सोनू की भी शादी कुछ समय बाद ही होने वाली है। उन दोनों को जब भी कोई भी जरूरत होती तो मैं दोनों की मदद कर दिया करता, एक दिन मेरे पास कपिल आया और कपिल कहने लगा कि सर मुझे आज कुछ पैसों की जरूरत है, मैंने उसे कहा लेकिन तुम्हें किस लिए पैसे चाहिए, वह मुझे कहने लगा बस आप मेरी मदद कर दीजिए मैं आपको कुछ समय बाद ही पैसे लौटा दूंगा।

मैंने उसे उस वक्त पैसे दे दिए और जब मैं अगले दिन रेस्टोरेंट में गया तो वहां पर ना तो कपिल था और ना ही सोनू था मैंने वहां के मालिक से पूछा कि वह दोनों कहां चले गए तो वह कहने लगे कि वह लोग कल से होटल ही नहीं आए हैं, मैं चिंतित हो गया मैंने उनसे पूछा तो क्या आपने उन्हें फोन नहीं किया, वह कहने लगे मैंने उन दोनों को फोन किया था लेकिन उन दोनों का नंबर ही नहीं लग रहा, मुझे भी काफी फिक्र हो रही है, मैंने उनसे कहा कि क्यों ना आप पुलिस स्टेशन में कंप्लेंट दर्ज करवा दीजिए, वह कहने लगे आप बिल्कुल सही कह रहे हैं लगता है मुझे अब पुलिस स्टेशन में ही कंप्लेंट दर्ज करवानी पड़ेगी। हम दोनों पुलिस स्टेशन में कंप्लेंट दर्ज करवाने के लिए चले गए जब हम दोनों पुलिस स्टेशन में पहुंचे तो हम दोनों ने उनकी तस्वीर पुलिस को दिखाई तो वह कहने लगे कि यह दोनों तो जुआ खेलते हुए पकड़े गए थे, मैंने जब उन दोनों को देखा तो मैंने कपिल से कहा कपिल यदि तुम्हें जुआ खेलने के लिए पैसे चाहिए थे तो मैं तुम्हें कभी पैसे नहीं देता और आज के बाद तुम दोनों मुझे कभी अपनी शक्ल मत दिखाना, मुझे उन दोनों पर बहुत गुस्सा आया और उनके मालिक ने भी कह दिया की तुम्हें होटल में आने की जरूरत नहीं है तुम अपने लिए कहीं और काम देख लेना।

वह दोनों बड़ी जोर जोर से चिल्ला रहे थे मुझे बहुत तकलीफ हुई मैंने सोचा कि मैंने उन दोनों पर कितना भरोसा किया लेकिन इन दोनों ने तो मेरा भरोसा ही तोड़ दिया मैंने जब यह बात अपनी पत्नी को बताई तो मेरी पत्नी कहने लगी कि मैं दो दिन बाद घर वापस आ जाऊंगी बस आप दो दिन तक मैनेज कर लीजिए लेकिन मुझे इस बात का बहुत दुख था कि मैंने उन दोनों पर बहुत अधिक भरोसा किया और मैंने यह बात अपनी पत्नी को नहीं बताई कि मैंने कपिल को पैसे भी दिए थे यदि मैं यह बात अपनी पत्नी को बता देता तो वह मुझ पर गुस्सा होती। एक दिन मैं अपने ऑफिस से घर लौटा ही था मैंने दरवाजे पर देखा कपिल और सोनू खड़े हैं वह दोनों मुझे कहने लगे सर हमें माफ कर दीजिए हम आपके पैसे लौटा देंगे उन्होंने मुझे कहा हमसे गलती हो गई थी हम दोनों ने बहुत ज्यादा शराब पी ली थी और इसीलिए हम दोनों जुआ खेलने लगे, कपिल ने मुझे थोड़े बहुत पैसे भी दे दिए थे वह कहने लगा हम लोगों के पास रहने के लिए भी अब कोई जगह नहीं बची है यदि आप हमें आज अपने साथ रख ले तो हम पर बहुत बड़ा उपकार होगा और उसके बाद हम आपको कभी अपनी शक्ल भी नहीं दिखाएंगे, मैंने उन दोनों पर दया कर अपने पास रहने के लिए कह दिया। वह दोनों मेरे पास रुक गए रात के वक्त जब मैं अपने कमरे में सोया हुआ था तो जिस रूम में कपिल और सोनू सोए हुए थे वहां से आवाज आ रही थी। मैं जब कमरे में गया तो मैंने देखा वह दोनों एक दूसरे के साथ मजे ले रहे हैं मैंने उन दोनों को देखते ही कहा मादरचोद तुम यह सब क्या कर रहे हो। मुझे उन दोनों पर बहुत गुस्सा आ गया मुझे नहीं पता था कि वह दोनों गे है। सोनू मेरे पास आया और कहने लगा सर हम आपको भी पूरे मजे दे सकते हैं उसने मेरे लंड को बाहर निकाल लिया और अपने मुंह में लेकर चूसने लगा वह मेरे लंड को बड़े अच्छे से चूसता मेरा लंड भी एकदम तन कर खड़ा हो चुका था सोनू ने मेरे लंड का चूसकर बुरा हाल कर दिया था।

जब कपिल ने मेरे लंड को चूसना शुरू किया तो मुझे अच्छा लगने लगा कपिल मेरे लंड को बड़े अच्छे से चूस रहा था। सोनू ने मेरे लंड की तेल से मालिश की और मेरे लंड को पूरा चिकना बना दिया जब मेरा लंड चिकना हो गया तो मेरा भी मन दोनों की गांड मारने का हो गया। सोनू ने मेरे सामने अपनी गांड को कर दिया मैंने अपने हाथ से पकड़ते हुए अपने लंड को सोनू की गांड पर लगाया और उसकी गांड के अंदर आपने लंड को घुसा दिया। जैसे ही मेरा लंड सोनू की गांड में प्रवेश हुआ तो वह चिल्लाने लगा मुझे बहुत अच्छा महसूस हो रहा था। मैं तेजी से उसे धक्के दिए जाता वह मुझे कहने लगा मुझे बहुत अच्छा लग रहा है इतने समय बाद किसी मोटे लंड को मैंने अपनी गांड में लिया है सोनू ने मुझे उस दिन बहुत मजे दिए। जब मैने अपने लंड को उसकी गांड में डाला तो उसकी गांड में मेरा लंड नहीं घुस रहा था लेकिन मैंने धक्का देते हुए उसकी गांड के अंदर लंड को घुसा दिया जिससे कि मेरा लंड भी छिल चुका था। मैंने उसे धक्के देने शुरू कर दिए मै तेजी से धक्के मारने लगा वह खुश हो गया वह मुझे कहने लगा मुझे तो अपने आज मजे दिलवा दिए। मैंने उससे कहा तुम दोनों ने आज मुझे बहुत मजे दिलवा दिए। कपिल कहने लगा क्या मैं यह समझू कि आपने मुझे माफ कर दिया। मैंने उसे कहा हां मैंने तुम दोनों को माफ कर दिया यह कहते हुए कपिल अपनी गांड को मुझसे टकराने लगा मुझे बड़ा मजा आ रहा था क्योंकि इतने समय बाद मैंने किसी की गांड मारी थी। उन दोनों के साथ मैंने उस दिन भरपूर आनंद उठाए रात को हम तीनो एक साथ ही सो गए कपिल और सोनू को मैने माफ कर दिया था क्योंकि उन दोनों ने मुझे रात को भरपूर मजे दिए थे दो दिन बाद मेरी पत्नी घर वापस लौट आई।

कृपया कहानी शेयर करें :